ताजा समाचार


बुरा न मानो होली है (मानपदवी)

द रियल समाचार     २०७७ चैत्र १५, आईतवार, १४: २८ मा प्रकाशित




राजनीतिज्ञ
के.पी ओली : एको हं द्वितियो नास्ती (अहं ब्रह्मास्मी)
पुष्पकमल दाहाल प्रचण्ड : खाउ बापक लड्डु
शेरबहादुर देउवा : पेण्डुलममा छु
विमलेन्द्र निधि : रने बने बौवाइछी
महन्थ ठाकुर : अपने छी खाटपर टांग दुनु टाटपर
उपेन्द्र यादव : यादवोँ का रक्षक
राजेन्द्र महतो : जमाई राजा जिन्दावाद
मुख्यमन्त्री लालबाबु राउत : कमिसन के ढौवा जितेन्द्र के द देहम
जितेन्द्र सोनल : मिठि छुरी
ज्ञानेन्द्र यादव : रहे….नै आ सोहरल जाय
विजय यादव : छौडी पतरकी गे मारे गुलेलवा जियरा उड उड जाय
नवलकिशोर साह : हमरा मुन्त्रालयका हिरो बेटा हैं
रामनरेश राय : हमरा कि सिखाइव हमहु नचनीऐ छी । (केशरोप्पा मन्त्री)
शैलेन्द्र साह : मन करैह हमहु जैती
वृषेशचन्द्र लाल : नई घर नै घाट के
डा. विजय कुमार सिंह : आव हम गुमनाम छी ।
माधवीरानी साह : ना बाप बड़ा ना भैया सबसे बड़ा रुपैया
परमेश्वर साह : हमर महारानी जी सरि…….नै एलैथ कार्यक्रममे
रामसरोज यादव : मिथिला मधेश भाड मे जाई मुख्यमन्त्री जिन्दावाद
रघुविर महासेठ : बापो से जेठ
जुली महतो : माल है तो क्या गम
कृष्णा सिंह : चन्दे से चन्दन
जीवनाथ चौधरी : कपाल मोचनी पर घर ठाड करहल छी, तेलीबा कि करत ।
गणेश तिवारी : बापो के नोकर, बेटो के नोकर
बजरंगप्रसाद साह : अभी भी चान्स है ।
रोशन जनकपुरी : विद्वान घोड़ा
रामचन्द्र मण्डल : नयाँ आका(ओली–बा)
जगदीश महासेठ : पत्ता ना पाबे सीताराम
विभा ठाकुर : काम करे कोइ कुर्सीपर कोइ

विन्दु ठाकुर : विन्दु बदनाम हुई वृषेश तेरे लिए

पुनम झा मैथिली : अखनो हम जुवाने छि
लालकिशोर साह : अख्तियार कहिया पकरत से नहि जानि
रिता कुमारी मिश्र : हमरा किछ नइ कहु भाइजी के कहियौ ।
रामज्ञान मंडल : बुढिया अभि सम्हरल है (हंसपुर न.पा)
रेणु झा : मेयरसंगे कमिशनके सेटिंग भऽ गेल (हंसपुर न.पा)
विक्रम चौधरी : ठेक्केदार बनल नेता(पिपरा गा.पा)
संजिब साह (भंगहा नपा) : पटमुर्ख
उदय बरबरिया (शहिद नपा) : विवाह त नइ भेल, सजनी एकटा गीत गाइव दिऔं ।
अनिल यादव (मि.वि नपा) : मनसुख्खा भैंस
मनोज चौधरी : बाप मरल अन्हरीयामे बेटाके नाम पावर हाउस
जानकीराम साह : आव घरवालीके बनाएब नेता
मनोज साह : बाप पेडाबाला बेटा पेरेबाला
सुदर्शन सिंह : पेटमे खर नै सिंहमे तेल
राकेश विक्रम साह : बडा दिक्कत है यौ

पत्रकार, साहित्यकार र कलाकार

राजेश्वर नेपाली : फ्लोप मेमोरी
रामभरोस कापडि़ : बुढ घोडी के लाल लगाम
परमेश्वर कापडि़ : पिजुवाइल खच्चर
डा. सुरेन्द्र लाभ : भलेही विजयके सिकाइत करी, हमहु पदक अभिलाशी रहिगेलांै
सुनिल मल्लिक : काम करे भाई नाम कमाए भैंया
मदन ठाकुर : आब पहिले पैसा तब नाटक
रामनारायण ठाकुर : दिलवा लेगइल पियरकी फराकबाली
सुनिल मिश्र : पुरान गुण्डा
रमेशरंजन झा : जेमहरे खीर तेमहरे फीर
गंगाकान्त झा : खटपटीया
विष्णुकान्त मिश्र : दारु पियाएब तऽ साइन करब
परमेश झा : छौरीबाज
रविन्द्र झा : नसिब अपना अपना
शैलेन्द्र मल्लिक : काम नै हमरा नाम चाहि
नविन कुमार मिश्र : कलाकारक व्यापारी
संगिता देव : कोरस गायिका
ललित कामत : गाँजा पिएके हौ तऽ आ
अशोक दत्त : बाउ रे साँझ भेलै एक एक प्याक भजाई
वृजकुमार यादव : पत्रकारीताके नाम पर दलाली
अनिल मिश्र : मोन त फेरो छल मुदा………..
रामअशिष यादव : अखन तक गंगे आरतीके भजाके खइली….
उमेश साह : बाबुरामके सेहो राजनीति सिखाएब
श्यामसुन्दर शशी : बाटमे ढुनढुन पादब…..
राजेश कर्ण : धियोपुता अभरटेक केलक
सुजीतकुमार झा : खोजो पुछार नै
अजय कुमार झा : खोज समाचार विशेषज्ञ हमही त छि एकटा
हिमांशु चौधरी : बात बात मे हा…हा…हा…..
नवल किशोर यादव : हम्मर जोगाड फिट
शैलेन्द्र झा: भूमिगत पत्रकारक सरदार
राजन सिंह : हमर साली छँटागेल
नित्यानन्द मण्डल : ऐन वक्त पर अनिलबा ने धोखा दिया
जयन्त ठाकुर : हउ भाइ हमरो वियाह कराद
अशोक रौनियार : राम चौकके दारु चौक बनाएब
जगदीश साह : लकर सुन्घा
रामभरत साह : भत्ता बला कार्यक्रम होतौ त कहिहे
संजिव कुमार झा : मेयर साहेव आहा पादव, हम समाचार लिखब
आतिश मिश्रा : मधेश भवनके दलाल
सुरेश यादव : मोछ मोटाक बडका भैया
अजित तिवारी : दारु पियायब त समाचार नहि लिखब
संदीप साह : हम भि है जोश मे
गोविन्द महतो : मुह मिसरी बोल करैला
अबधेश कामत : हमरो कत्तौ सेटिङ्ग करु
दिपक कर्ण : घरेबाली से परेसान
कैलाश दास : दलितके दलाल
प्रमोद साह रंगिले : जभी मिले तभी पिले

विकास साह : हम्मर टिक्की आलापमे गारल अछि

अमरकान्त ठाकुर : भोजन आ दक्षिणा छै न यौ  कार्यक्रममे
निरञ्जन साह : मन्त्री जी रहु चाहि की बुवारी ?
धैर्यकान्त दत्त : निधि जी औलाह, निधी जी गेलाह
विरेन्द्र रमण : छिना………… पत्रकार
पुरन गुप्ता : साह, सुडि, गुप्ता, रौनियार भितरसे तरघुस्का
किरण कर्ण : जय मिसिर जी
मनिका झा : आब अनिले भरोसे
घनश्याम मिश्र : जानकी शरणम गच्छामी
गायत्री मिश्र : क्या करु हाय कुछ कुछ होता है..
अर्जुन बहादुर क्षेत्री : कहिले हुन्छ मेरो विहे
नविन सिंह : एल स्पेष्लिस्ट
अर्जुन मण्डल : अप्पन जोगाड लागल त जय मधेश
सुभाष कर्ण : धर्तिफार है ?
शैलेन्द्र महतो क्रान्ति : बेइमान इमान्दार
ज्योति झा : अईबेर लडबे करब
नेहा झा : दि मात्रे नहि हमहु लडबै
प्रतिभा झा : पतरसुटकी
राजा झा : हम दिनदिने टकला भेल जाइछि
सुमित मिश्र : मामा मौसीके गुलाम
दिपक मिश्रा : यातायात अपने छै
संतोष सिंह : नवलाके नोकर
कमलेश ठाकुर : हमरासाथ बेइमानी भेल
रोहित महतो : केउ नै अप्पन भेल
बटुकनाथ झा : हम्मर भाइ मात्रे नहि आब घरोबाली पत्रकार छै
स्मृति मिश्र : ललिपप लागेलु
संजय साह (मोटु) : ठेकेदार पत्रकार

व्यवसायी

शिवशंकर साह हिरा : निधिके चाकरी छोइडक आब महासेठके
ललित साह : मनसुख्खा व्यापारी
जितेन्द्र प्रसाद साह : स्त्री रोग विशेषज्ञ
जितेन्द्र महासेठ : गोरकी पतरकी गे…
सुरेन्द्र भण्डारी : सभ व्यापार कैली आब सुथनी उखाड़ब
मनिषरमण साह : बाते पदा क चुनाव जितब
मनोजकुमार साह : एक्सपायर दवाका सौदागर
फूलदेव पण्डित : जमिने नै बहुतो किछके दलाली करै छी
ललित बजाज : हम छी एकटा बडका नेता
शंकर साह (डेली एक्प्रेस) : कनिये से परेसान
विजय झुनझुनवाला : काला नाग
राजिब साह(चन्दन),गणपति : मुसरीलाल
बलराम साह(सोनचाँदी) : हमरा हउ चाहि
सुनिल साह(नेपाल स्टोर्स : आइ कोन गल्ली मे हई मा…. ः
हंशराज साह : खच्चर व्यापारी
शंकर साह(सोनचाँदी) : सोनचाँदीक बडका तस्कर
बलराम महतो (ठेकेदार) : समाजसेवाक नामपर व्यापार
रमेश साह : घरबाली से परेसान
प्रकाशचन्द्र साह : एकटा बैज्ञानिक कहने छै………
अमरनाथ गुप्ता : हमहु सांढ छी
पवन सिंघानिया (समाजसेवी) : लास्ट आइटमक ठेकेदार
श्यामप्रसाद साह : आइटम चाहि त सम्पर्क करी
दिलीप साह (आदी) : बाप बडा न भैया सबसे बडा रुपैया
सरोज मिश्र : आन्दोल सान्दोलन भाड मे, हमहु शरणे मे छी ।
धर्मेन्द्र साह : लाल किशोरके असल चम्चा

युवा क्लव

अमरचन्द्र अनिल : वरिष्ठ तस्कर
प्रमोद चौधरी : पार्टी से नइ पाइसे मतलब
उपेन्द्र ठाकुर : हमहु खच्चड छी
संतोष साह : बाप के नाम सागपात बेटा के नाम परोर
भरत कुमार गुप्ता (कम्प्यूुटर मैन) : कमौआ पूत

यो खबर पढेर तपाईलाई कस्तो महसुस भयो ?


प्रतिक्रिया




Top